चाणक्य नीति की बातें होती हैं सच साबित, भूलकर भी कभी दूसरों को न बताएं ये राज

0

आचार्य चाणक्य अपने ज्ञान, विवेक और कूटनीति के कारण महान व्यक्ति बनें। चाणक्य अपनी बुद्धिमता के लिए जाने जाते हैं। उनके पास वह सारे गुण मौजूद थे जिससे वह खुद को चाणक्य सिद्ध कर सकें। रंक को राजा बनाने की कला उनमें कूट-कूटकर भरी थी, चाणक्य जानते थे कि मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए क्या सही है क्या गलत। हालांकि उन्होंने कभी भी मनुष्य को स्वार्थी नहीं बनने की सलाह दी, क्योंकि स्वार्थी इंसान खुद के लिए भी किसी खतरनाक जीव से कम नहीं है।आचार्य चाणक्य ने अपने अनुभव, ज्ञान और बौद्धिक कौशल से जीवन में सफलता प्राप्त करने की कई नीतियां बनाई थीं उन सभी नीतियों का संग्रह चाणक्य नीति शास्त्र में है। इन नीतियों में चाणक्य ने मनुष्य के जीवन के उन रहस्यों का वर्णन कर रखा है, जो आपकी सफलता और जीवन रेखा को दर्शाता है। इन पौराणिक कथाओं में से आज हमने ऐसी 5 बातों का संकलन किया है, जिसे मनुष्य को हमेशा दूसरों से गोपनीय रखना चाहिए। चलिए जानते हैं चाणक्य नीतियों के बारे में…

 

चाणक्य नीति में कहा गया है कि आप कभी भी अपने राज दूसरों को ना बताएं, क्योंकि अगर आप किसी दूसरे को वह राज बता देते हैं, तो वो राज नहीं रहता। हमेशा ऐसे लोगों से सावधान रहें जो, आपसे स्वार्थ के लिए बात करते हैं, यह लोग कभी भी आपका भला नहीं चाहेंगे। ये एक मतलब तक आपके साथ रहते हैं, काम होने के बाद वह अपने रास्ते हो जाएंगे।

कभी भी अपनी कमजोरी किसी को न बताएं, अगर आप ऐसा करते हैं तो वह इंसान आप पर हावी हो सकता है, क्योंकि अपनी कमजोरी तो आपने उसे बता ही दी। इसलिए हमेशा किसी से भी बात करने से पहले सौ बार सोचें। अगर कोई व्यक्ति आपका बैकग्राउंड जानने की कोशिश करे, तो समझ जाएं कि वो आपका अहित चाहता है।

घर-परिवार की बातें

अमूमन लोग ऐसे होते हैं, कि दोस्त यारों में अपने घर की बातें शेयर कर देते हैं, लेकिन चाणक्य नीति यहां कहती है, कि कितना भी करीबी दोस्त क्यों न हो उसे अपनी घर की बातों से दूर रखें। कोशिश करें घर की बात घर में ही रहे। क्योंकि घर की बात बाहर जाने से घर से सदस्यों में आपसी मनमुटाव और अविश्वास की भावना बढ़ती है।

घर का रहस्य 

कई लोग होते हैं, जो अपना घर दिखाने के चक्कर में घर के कोने कोने से उनको अवगत करा देते हैं। जो आपके विश्वासपात्र हैं, उन्हें आप घर दिखा सकते हैं, लेकिन देखा जाता है कि कई लोग अपने घर में आए सभी को घर के रहस्य बताने लगते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो सावधान हो जाएं, नहीं तो आपको बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

गुरु मंत्र

अगर आपने किसी योग्य गुरू से दीक्षा या मंत्र लिया है, तो गुरू द्वारा दिए गए मंत्र का बखान न करें। गुरूमंत्र को हमेशा गोपनीय रखना चाहिए। यही नहीं अगर आप किसी प्रकार की साधना, तप, ध्यान या उपवास रख रहे हैं, तो उसे भी गोपनीय ही रखें अन्यथा वह निष्फल हो जाएगा।

धन

अकसर जब कोई व्यक्ति तरक्की के शिखर पर पहुंच जाता है, तो आपके साथी आपसे उस तरक्की का राज पूछते हैं। आपके पैसों को लेकर भी कई बार पूछा जाता है, आप क्या करते हैं, इतना पैसा कैसे आता है। लोग तरह-तरह से आपसेआपकी तरक्की का राज जानना चाहते हैं, हालांकि चाणक्य कहते हैं कि अपने धन की बातें हमेशा गोपनीय रखनी चाहिए। बता दें कि हमेशा से ही ये सलाह दी जाती है कि अपने धन का ब्यौरा किसी को नहीं देना चाहिए, लेकिन अपनी पत्नी को इस बारे में जरूर बताएं।

मन की बात 

खास बात किसी को अपनी मन की बात न बताएं, अगर आप ऐसा करते हैं तो आप किसी बड़े संकट का शिकार हो सकते हैं। कई बार ऐसा होता है कि आप किसी बात को लेकर क्रोधित हो जाते हैं या आपके अंदर घृणा पैदा हो जाती है।मन में हजारों तरह के विचार उत्पन्न होते हैं, लेकिन एक बुद्धिमान और चतुर इंसान सिर्फ उन्हीं बातों को व्यक्त करता है जो उसके हित में हो। अगर आप अपने मन की हर बात को जगजाहिर करेंगे, तो लोग आपके बारे में एक धारणा बनाना शुरू कर देंगे।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.