घर में शीशे की दिशा बिगाड़ सकता है आपका करियर, देखें वास्तु दोष के ये 5 उपाय

0
mirror

अपने जीवन में हर कोई करियर में सफल बनना चाहता है ताकि वह जिंदगी के सारे सुख भोग सके। इसके लिए हर व्यक्ति कड़ी मेहनत करता है। दिन-रात काम करता है लेकिन फिर भी कई लोगों को मेहनत का 100 प्रतिशत नहीं मिलता। कुछ लोग ऐसे होते है जिन्हें कड़ी मेहनत के बाद भी सफलता हाथ नहीं लगती। ऐसी स्थिति में हर कोई अपनी किस्मत को कौसते नजर आता है लेकिन क्या आप जानता है सफलता के पीछे वास्तु का भी बहुत बड़ा योगदान होता है। दावा किया जाता है कि अगर घर में वास्तु दोष हो। तो इससे आपकी तरक्की रुक सकती है। इतना ही नहीं, आपको धन की भी कमी हो सकती है इसलिए आपको वास्तु की छोटी- छोटी बातों का ध्यान रखना चाहिए।

1- घर में तुलसी का पौधा काफी शुभ माना जाता है लेकिन वास्तु शास्त्र में तुलसी के पौधे की उचित दिशा बताई गई है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर की पूर्व या उत्तर दिशा में तुलसी का पौधा लगाना चाहिए। ऐसा करने से आर्थिक लाभ होता है लेकिन साथ ही मानसिक, शारीरिक फायदा भी होता है।

 

2- गहनों को औरतों का श्रृंगार कहा गया है लेकिन ये भी सच है कि गहनों को कभी भी चलते हुए नहीं पहनना चाहिए। वास्तु शास्त्र के अनुसार, ऐसा करने से तरक्की रुकती है। अगर पूर्व और उत्तर दिशा में गहने पहने जाए। तो काफी शुभ माना जाता है।

3- वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में कभी भी शीशा पश्चिम और दक्षिम दिशा में लगाए। दावा किया जाता है कि अगर इन दो दिशा में शीशा लगाया जाता है तो प्रगति रुक जाती है।

4- वास्तु शास्त्र के मुताबिक, घर के आसपास की जगह काफी खुली होनी चाहिए। अगर ऐसा होता है तो धन-वैभव में बरकत होती है।

5- वास्तु शास्त्र में खराब दवाओं को भी फेंकने का समय बताया गया है। वास्तु शास्त्र के मुताबिक, खराब दवाओं को रात को ही फेंकना चाहिए। ऐसा करने से शरीर के रोग खत्म होते है।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.