इन 5 संकेतों से पहचानें , कहीं आपके घर में भी नकारात्मक ऊर्जा तो नहीं

0
Negative Energy

ऊर्जा दो प्रकार की होती है जिनका हर व्यक्ति के जीवन पर गहरा प्रभाव होता हैं। नकारात्मक और सकारात्मक। घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार बना रहना बेहद जरूरी माना गया है। सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह से आपके घर में सुख-शांति बनी रहती है तो वहीं नकारात्मक ऊर्जा की वजह से आपके जीवन में एक के बाद एक समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। नकारात्मक ऊर्जा की वजह से आपके घर की खुशहाली समाप्त हो जाती है। नकारात्मक ऊर्जा को पहचानकर अगर इसका निवारण कर लिया जाए तो आप परेशानियों से निजात पा सकते हैं। नकारात्मक ऊर्जा को आप निचे दिए गए संकेतों से पहचान सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:- वास्तु टिप्स: घर की इन जगहों पर बनाएं स्वास्तिक का चिह्न, मिलेगा धन और दांपत्‍य सुख

घर एक ऐसा स्थान होता है जहां पर व्यक्ति स्वयं को शांत और सहज फील करता है। अगर आपको अपने घर के किसी हिस्से में असहज फील होता है या फिर किसी न किसी बात पर बार-बार विवाद होता रहता है तो आपके घर में नकारात्मकता का असर हो सकता है। नकारात्मक ऊर्जा का अर्थ भूत-प्रेत आदि से नहीं होता है। घर में किसी तरह से वास्तु दोष आदि होने की दशा में नकारात्मक ऊर्जा आने लगती है जो हमारी लाइफ को प्रभावित करती है।

अगर आप सुबह सोकर उठते हैं और आपका मन अशांत रहता है या फिर घर में प्रवेश करने के बाद रोने का मन करने लगे। जबकि आपको कोई समस्या न हो फिर भी अक्सर आपको ऐसा फील होता हो तो यह नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव हो सकता है। इसके लिए नमक डालकर पोंछा लगाना चाहिए।

अगर आप घर की पूरी साफ-सफाई रखते हैं, मगर फिर भी घर में अचानक से कई कीड़े आने लगे तो इसके पीछे की वजह का पता लगाना चाहिए। अगर बिना किसी वजह से ये सब हो रहा हो तो यह चिंता का विषय हो सकता है। इससे न सिर्फ आपके घर में परेशानियां बढ़ती है बल्कि आपके स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। आपको अपने धर्म के मुताबिक अपने घर की शुद्धि करवानी चाहिए।

अगर आपको तमाम कोशिशों के बाद भी बार-बार असफलता का मुंह देखना पड़ रहा है या फिर आपके साथ एक के बाद एक कुछ न कुछ गलत हो रहा है तो समझिए की आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश हो चुका है। नकारात्मक ऊर्जा की वजह से आपको कई बार दुष्परिणाम भी भुगतने पड़ते हैं। समय रहते इसे पहचानकर उपाय करने चाहिए।

अगर घर के भीतर हर वक्त खुद को थका हुआ, प्रेरणारहित और भ्रमित फील करते हैं, तो इसका अर्थ है कि आपके घर के किसी कोने या हिस्से में नकारात्मक ऊर्जा का वास हो रहा है। अगर आपको ऐसा लग रहा है तो आप ध्वनि ऊर्जा के द्वारा सकारात्मकता को बढ़ावा दे सकते हैं। इसके लिए घंटी शंख आदि की ध्वनि आपकी मदद कर सकती है।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.