ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ये 5 पौधे दूर करेंगे सभी दिक्कत, हरस‍िंगार से लेकर…

0

हिन्दू धर्म में पेड़-पौधों का विशेष महत्व माना जाता हैं जिनके पूजन से पुण्य की प्राप्ति होती हैं और जीवन की परेशानियों का अंत। शास्त्रों में कई पेड़-पौधे ऐसे बताए गए हैं जो जीवन में सकारात्मकता का संचार करते है और ग्रहदोष निवारण करते हैं। आज इस कड़ी में हम आपके लिए कुछ ऐसे पौधों की जानकारी लेकर आए हैं जिन्हें नियत गिनती के अनुसार लगाया जाए तो हर मन्नत पूरी होती हैं। तो आइये जानते हैं इन पौधों के बारे में।

वटवृक्ष के 5 पौधे दूर करेंगे सभी दिक्कत
Photo of ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ये 5 पौधे दूर करेंगे सभी दिक्कत, हरस‍िंगार से लेकर…
ज्‍योत‍िषशास्‍त्र के अनुसार, अगर कोई जातक चौराहे या फ‍िर सड़क के क‍िनारे 5 वट वृक्ष लगा दे तो यह जातक को शुभ फल देता है। लेक‍िन ध्‍यान रखना है क‍ि आपको इन पौधों की न‍ियम‍ित देखभाल भी करनी होगी। कहते हैं ऐसा करने से जातक के जीवन में आने वाली द‍िक्‍कतें अपने आप दूर होने लगती हैं। साथ ही जातकों की कई पीढ़‍ियां भी तर जाती हैं।

पलास के 5 पौधे से पुण्य

ज्‍योत‍िषशास्‍त्र के अनुसार, अगर जातकों के जीवन में कोई गंभीर संकट आ गया हो तो उसे पलास के 5 पौधे रोप देने चाह‍िए। ध्‍यान रखें इसे सड़क क‍िनारे या फ‍िर क‍िसी खेत-खल‍िहान के पास रोपें। इसे कभी भी घर या घर के आसपास न लगाएं। मान्‍यता है क‍ि पलास के पांच पौधे लगाने से जातकों को 10 गऊदान के समान पुण्‍य म‍िलता है।

हरस‍िंगार के 2 पौधे से लाभ

कहते हैं क‍ि कुंडली में अगर मंगल ग्रह खराब हो तो जातकों को हरस‍िंगार के 2 पौधे लगाने चाह‍िए। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से जातकों पर हनुमानजी की कृपा होती है। इसल‍िए ज‍िनका मंगल ग्रह खराब होता है उन जातकों को हनुमानजी के मंद‍िर में या फ‍िर क‍िसी सामाज‍िक स्‍थल पर हरस‍िंगार के दो पौधे लगाने चाह‍िए। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से जातक को स्‍वर्णदान के समान ही पुण्‍य म‍िलता है।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.