अगर भूल से भी हो जाए इन 5 जानवरों का घर में आगमन, तो हमेशा के लिए बदल जाएगी आपकी किस्मत…

0

हर जीव में भगवान का वास माना जाता हैं और अहिंसा ना करने की बात कही जाती हैं। जानवर भी इस सृष्टि का हिस्सा हैं और इनका शास्त्रों में भी बड़ा महत्व बताया गया हैं। अक्सर घर में कई तरह के जीव प्रवेश कर जाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन जीव का आपके जीवन से गहरा नाता होता है। आज इस कड़ी में हम आपको कुछ ऐसे जानवरों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका घर में आना जीवन में धन के आगमन का संकेत देता हैं। ये जीव भविष्य में होने वाले लाभ के साथ ही सुख और ऐशवर्य की वृद्धि को दर्शाते है।
दोमुंहा सांप का घर में आना

अगर घर में दोमुंहा सांप आया है तो इसका मतलब है कि मां लक्ष्मी का आपके घर आगमन हो चुका है। क्योंकि दोमुंहा सांप लक्ष्मी का वाहक माना गया है। यह बहुत दुर्लभ माना जाता है, आमतौर पर इसके दर्शन भी नहीं होते हैं। लेकिन अगर घर में आ जाए तो यह बहुत शुभ होता है। पहले जमाने में जब दोमुंहा सांप घर में आ जाता था तब लावा, धान और दूध सांप को देते था ताकि वह घर में ही रहे। यह सांप किसी को भी नहीं काटता। जिस घर में यह सांप आता है, वहां धन-धान्य की कभी कमी नहीं रहती।

मेंढक का घर में आना

दुनियाभर में मेंढक शुभता का प्रतीक माना जाता है। चीन में इसे समृद्धि और धन के प्रतीक चिह्न के रूप में मान्यता प्राप्त है। मेंढक के घर में आने से सुख और सौभाग्य की प्राप्ति होती है। वास्तु शास्त्र में भी मेंढक धनदायक माना गया है। ना केवल हिंदू धर्म में बल्कि तमाम संस्कृतियों में मेंढक को घर में पाला जाता है।

काली चीटियों का घर में आना

काली चीटियों का भी घर में आना शुभ माना जाता है। काली चीटियों का संबंध शनि से माना गया है, जो न्याय के देवता हैं। जिस घर में चीटियां समूहबद्ध में आती है, उस घर में सुख व ऐशवर्य की प्राप्ति होती है। वहीं अगर अंडा मुह में लेकर आ रही हैं तो यह भी शुभ माना जाता है। ऐसा मानते हैं जल्द ही घर में धन लाभ होने वाला है। यह आर्थिक स्थिति अच्छी होने की संकेत देती हैं।

कछुए का घर में आनाPhoto of अगर भूल से भी हो जाए इन 5 जानवरों का घर में आगमन, तो हमेशा के लिए बदल जाएगी आपकी किस्मत…

कछुआ का घर में आना शुभ माना जाता है। वास्तु शास्त्र में जलीय जीव जैसे कछुआ और मछली का विशेष स्थान है। कहा जाता है जहां कछुआ आता है, उस घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार माना जाता है। भगवान विष्णु के कच्छप अवतार से इसका संबंध है, जिससे यह और भी पवित्र हो जाता है। घर में इसका प्रवेश लक्ष्मी आगमन का संकेत माना जाता है। घर में कछुआ से समृद्धि के साथ-साथ सुख-शांति भी आती है।

तोते का घर में आना

शास्त्रों के अनुसार, तोता का घर में आना शुभ माना जाता है क्योंकि इसका संबंध कुबेर से माना जाता है। साथ ही यह कामदेव का वाहन है इस वजह से तोता शुभ का प्रतिक है। ज्योतिष शास्त्र में भी इसका संबंध बुध ग्रह से माना गया है और बुध वैभव का प्रतिक है। तोता के घर में आने से धन लाभ और व्यापार में भी तेजी का सूचक माना गया है। साथ ही अटका हुआ धन भी प्राप्त होता है।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.