अगर आपकी भी कलाई में हैं ऐसी रेखाएं, तो एक बार जरुर पढ़ ले ये खास खबर…

0

हिंदू धर्म में आस्था रखने वालों के लिए हस्तरेखा विज्ञान का विशेष महत्व है। हस्तरेखा विज्ञान में हाथ की रेखाओं के आधार पर व्यक्ति के व्यक्तित्व, आर्थिक स्थिति इत्यादि का आकलन किया गया है। हस्तरेखा विज्ञान में कलाई की रेखाओं पर भी काफी जोर दिया गया है। कलाई पर स्थित रेखाओं को मणिबंध रेखा कहा जाता है। हस्तरेखा के मुताबिक मणिबंध रेखाओं का हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। यदि मणिबंध से निकलने वाली रेखा हथेली के मध्य तक पहुंचे तो इसे काफी शुभ माना गया है। हस्तरेखा के मुताबिक ऐसे लोग अपने जीवन में काफी सुख प्राप्त करते हैं। इन्हें अचानक से बड़ी तादात में धन की प्राप्ति होती है। शेयर बाजार से इन्हें लाभ मिलने की बात कही गई है।

कुछ लोगों के मणिबंध से निकलने वाली रेखा जीवनरेखा को स्पर्श करती है। इस स्थिति को धनलाभ के लिहाज से अच्छा माना गया है। कहते हैं कि ऐसे लोगों को विदेश से धनलाभ होता है। यह लाभ आयात-निर्यात के बिजनेस से हो सकता है। यदि मणिबंध से निकलने वाली रेखा हृदयरेखा को स्पर्श करे तो यह भी शुभ है। हस्तरेखा की मानें तो ऐसे लोगों को साझेदारी में काम करना चाहिए। इससे बिजनेस अच्छा चलता है और काफी धनलाभ होता है। दोनों का जीवन सुखी पूर्वक व्यतीत होता है।Photo of अगर आपकी भी कलाई में हैं ऐसी रेखाएं, तो एक बार जरुर पढ़ ले ये खास खबर…

आपने देखा होगा कि कुछ लोगों के मणिबंध से निकलने वाली रेखा सूर्य पर्वत(अनामिका उंगली का निचला हिस्सा) तक जाती है। हस्तरेखा विज्ञान में इस योग को अच्छा माना गया है। कहते हैं कि ऐसे लोग राजनीति में काफी सफल होते हैं। इनकी संवाद क्षमता काफी मजबूत होती है। मणिबंध से निकलने वाली कोई रेखा गुरु पर्वत(तर्जनी उंगली का निचला हिस्सा) तक भी जाती है। हस्तरेखा की मानें तो ऐसे लोगों को अपनी उम्र से अधिक वाले शख्स से प्रेम होता है। इनमें विवाह योग भी पाया जाता है।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.