शादीशुदा जिदंगी को खुशहाल बनाने के ये हैं 5 नियम

0

प्यार और रोमांस उतना ही जरूरी है जितना जीने के लिए भोजन। इसलिए रोमांस को जवां रखने के लिए ये दस बातें जरूर सीखें।शादीशुदा जिदंगी को खुशहाल बनाने के ये हैं 5 नियम

एक छोटी सी बात खुशी और गम दोनों की वजह बन सकती है। इसीलिए छोटी-छोटी बातें भी जिंदगी में बड़े मायने रखती हैं। अगर आप ये सोचकर अपने पार्टनर को समय नहीं पा रहे हैं कि लंबी बात करनी हैं तो इससे बचें और जब भी मौका मिले छोटी ही सही कन्वर्सेशन ऑन रखें। इससे आप दोनों और करीब आएंगे।

अपने साथी के साथ ड्राइव पर जाने का ख्याल ही कितना रोमांटिक है। इसलिए कभी-कभी लॉन्ग ड्राइव पर निकल जाएं। मूवी देखें या कहीं और घूमें। कोशिश ये करें कि सुबह की वॉक और शाम का डिनर भी साथ हो। इससे दोनों तरोताजा तो रहेंगे ही, आपका रिश्ता भी मजबूत होगा।

प्यार को जवां रखने के लिए (I Love You) ये तीन जादुई शब्द बोलने से न कतराएं। जब भी मौका मिले अपने साथी से प्यार का इजहार करें। इससे आपकी बीच नजदीकियां और पनपेंगी।

ये ठीक है कि जिंदगी में गंभीर होना पड़ता है। लेकिन हर समय गंभीर रहने से आप रुखड़ लग सकते हैं। इसलिए कभी-कभार जोक्स बनाने और ठहाका लगाकर हंसने की कोशिश करें। हंसना एक प्रकार का व्यायाम भी है। जीवन मजे से चलता रहेगा।

साथी को हग करना यानी जादू की झप्पी देना न भूलें। जब आप हग करते हैं तो इसके साथ आप इपने रिश्ते में प्यार की गर्माहट भरते हैं। बहुत अच्छा ये होगा कभी-कभार हग करने साथ कडलिंग भी करें।

कोशिश करें कि कभी-कभार साथी की पसंद को ही अपनी पसंद बना लें, उसके साथ खाना बनाएं, स्विम्मिंग या उसकी पसंद का कुछ और करें।

किस यानी चुंबन बहुत जरूरी है रिश्ते को हरा-भरा रखने के लिए। अपने साथी की आंखों में देखें और किस को मिस न करें। कभी-कभार उसको कुछ सरप्राइज दें। उसके लिए कुछ एक्सट्रा करें। जब भी उसके साथ हों तो उसको नजरअंदाज कतई न करें। पब्लिक में भी उसका हाथ थामे रखें।उपलब्धियां मिलने पर साथी की तारीफ करना न भूलें। आभार जताना सीखें और कभी कोई बात खराब लगें तो उसे माफ भी कर दें।कभी-कभी सरप्राइज देते हुए साथी की जी हजूरी करें। अचानक ‘यस’ बोलें। इससे आप रोमांटिक पलों को जी पाएंगे।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.