वैकेशन प्लानिंग लास्ट मिनट में करें तो इन टिप्स से बनाएं अपने सफर को यादगार

0

नया साल शुरू हो चुका है और बच्चों की छुट्टियां भी जारी हैं। ऐसे में फैमिली के साथ खूबसूरत डेस्टिनेशन्स की सैर करने के लिए यह वक्त पूरी तरह से मुफीद है। जाहिर है इस मौके का फायदा उठने के लिए आप फटाफट अपने पसंद के ट्रैवल डेस्टिनेशन्स के होटल और ट्रैवल टिकटों की बुकिंग करेंगे। लेकिन अक्सर देखने में आता है कि आखिरी समय में छुट्टियों का एडजस्टमेंट करने, फाइनेंस, ट्रैवल और होटल बुकिंग में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। हालांकि घूमने के लिए बढ़िया लोकेशन्स की कमी नहीं है, लेकिन बुकिंग करते हुए आपको कुछ जरूरी चीजों का ध्यान रखना चाहिए। सबसे अहम है अफोर्डेबिलिटी और ट्रैवल, रहने और खाने-पीने में सुविधा। आप जितना भी खर्च करें, वह पूरी तरह से पैसा वसूल होना चाहिए। बिगब्रेक्सडॉटकॉम के सीएमडी कपिल गोस्वामी से जानिए कि वैकेशन्स के लिए अच्छा ट्रैवल पैकेज कैसे चुनें-वैकेशन प्लानिंग लास्ट मिनट में करें तो इन टिप्स से बनाएं अपने सफर को यादगार

सबसे पहले आप अलग-अलग ट्रैवल एजेंट/पोर्टल के पास खुद को रजिस्टर करें। बाजार में इनकी कमी नहीं है। इनकी वेबसाइट पर जाएं और आपको जो सही लगें, वहां रजिस्टर करें। आपको उनकी तरफ से डील्स, डिस्काउंट और ऑफर मिलेंगे, जिन्हें देखकर आपको अपनी तरफ से बेस्ट ऑप्शन चुनने का पूरा मौका मिलेगा। अलग-अलग डील को कंपेयर करें और छोटे अक्षरों में लिखी लाइनों को भी ध्यान से पढ़ें। डील तय करने से पहले अपनी तरफ से अच्छी रिसर्च भी कर लें। एक ही डेस्टिनेशन के लिए अलग-अलग एजेंसी अलग पैकेज देती हैं। जो आपके लिए बेस्ट हो, उसे चुनें।

अपनी चॉइस को लेकर स्पष्ट रहें
कई महिलाएं पूरे ट्रेवल पैकेज के लिए चुनाव करते वक्त एजेंट पर निर्भर रहती हैं। यह ध्यान रखिए कि यह आपका वैकेशन है, आपको यह पहले से सोच लेना चाहिए कि आपको अपना वैकेशन किस तरह से गुजारना है और क्या-क्या चीजें आपके लिए जरूरी हैं। आपके ट्रेवल एजेंट का काम यह होना चाहिए कि वह आपकी पसंद की चीजों को आपके लिए मुहैया कराए। दुबई के पैकेज में वहां के तीन मॉल एटलांटिस, दुबई मॉल और मॉल ऑफ द एमिरेट्स शामिल हो सकते हैं, लेकिन अगर आपको शॉपिंग में दिलचस्पी नहीं है, तो आपको उनमें मजा नहीं आएगा। ऐसे में आप क्रूज या हॉट एयर बलून में वक्त बिताना शायद ज्यादा पसंद करें। आपको अपने एजेंट को अपनी चॉइस बतानी चाहिए। इसके लिए बहुत जरूरी है कि आप अपने पूरे वैकेशन का एक रफ आइडिया बना लें और यह सोच लें कि आपको किन लोकेशन पर जाना है और क्या-क्या चीजों को एंजॉय करना है, आपका बजट कितना रहेगा और आपको वहां कितने दिन बिताने हैं।

नए पोर्टल भी आजमाएं
आमतौर पर माना जाता है कि पॉपुलर ट्रेवल पोर्टल बेस्ट होते हैं, लेकिन ट्रेवल पोर्टल देखते समय नए पोर्टल पर भी आपको रिसर्च करनी चाहिए। देखने में आता है कि नई वेबसाइट्स पर ट्रैवलर्स को ज्यादा आकर्षक और सस्ती डील और अपने हिसाब से कस्मटाइज्ड सॉल्यूशन मिल जाते हैं। नए या कम पॉपुलर पोर्टल ट्रेवलर्स की जरूरतों के हिसाब से उनके पैकेज को कस्टमाइज करने में ज्यादा दिलचस्पी दिखाते हैं, ताकि उनकी इमेज अच्छी बनी रहे और क्लाइंट उनके पास दोबारा आएं।

बेसिक चीजों का रखें ध्यान
ट्रेवल एजेंट अक्सर ट्रैवलर्स को अपने पैकेज और एडिशनल सर्विस के जरिए आकर्षित करने की कोशिश करते हैं। ध्यान देने वाली बात है कि कुछ भी एक्स्ट्रा पैकेज की कीमत को बढ़ा देता है। फैसिलिटी जैसे कि एयरपोर्ट ट्रांसफर, शॉपिंग में सुविधा, इन सब चीजों के लिए कीमत चुकानी पड़ती है। इस तरह की फ्री सर्विस को लेने बचें क्योंकि इनमें कुछ हिडेन कॉस्ट हो सकती हैं।

चौबीस घंटे काम करने वाली एजेंसी चुनें
वैकेशन पर जाते हुए आपको किसी भी समय अपनी एजेंसी से बात करने की जरूरत हो सकती है। कभी आपको बुकिंग में बदलाव कराने की जरूरत हो सकती है या फिर कभी नए वेन्यू एड करने का प्लान हो सकता है। ऐसे में आपके लिए ऐसी एजेंसी अच्छी रहेगी, जो आपको 24 घंटे सुविधाएं दे।

एडवांस बुकिंग
वैकेशन प्लानिंग के लिए एक कहावत है, जितना पहले, उतना ही बेहतर। जल्दी प्लान करने से आप हवाई यात्रा के टिकट सस्ते में बुक कर सकते हैं, होटल में भी एडवांस बुकिंग सस्ती पड़ती है। पहले बुकिंग करते हुए आपको विकल्प भी ज्यादा मिलते हैं और आप अपने हिसाब से इनकी बुकिंग कर सकती हैं। आखिरी वक्त में आपके सामने जो उपलब्ध है, उसी से आपको काम चलाना पड़ता है। लास्ट मिनट की बुकिंग महंगी भी होती हैं और इनमें अपनी इच्छा के मुताबिक चीजें नहीं मिल पाने की वजह से इनमें ज्यादा मजा भी नहीं आता। ऐसे में कोशिश करें कि पहले से वैकेशन के लिए प्लानिंग कर लें।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/updarpan/public_html/namonamo.in/wp-includes/functions.php on line 5107

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/updarpan/public_html/namonamo.in/wp-includes/functions.php on line 5107