जीते-जागते शहर जोहनेसबर्ग की नाइटलाइफ होती है बेहतरीन और यादगार…

0

साउथ अफ्रीका जाने की सोच रहे हैं तो जोहनेसबर्ग से शुरुआत कर सकते हैं। साउथ अफ्रीका का यह शहर अपने अलग अंदाज के लिए जाना जाता है। इसकी ऐतिहासिक अहमियत के अलावा यह शहर इसलिए भी खास है क्योंकि यह वहां के गांधी माने जाने वाले नेल्सन मंडेला की जन्मभूमि है। साउथ अफ्रीका का सबसे बड़ा और घनी आबादी वाला शहर होने के साथ ही यह जोश और उमंग का शहर भी है।साउथ अफ्रीका जाने की सोच रहे हैं तो जोहनेसबर्ग से शुरुआत कर सकते हैं। साउथ अफ्रीका का यह शहर अपने अलग अंदाज के लिए जाना जाता है। इसकी ऐतिहासिक अहमियत के अलावा यह शहर इसलिए भी खास है क्योंकि यह वहां के गांधी माने जाने वाले नेल्सन मंडेला की जन्मभूमि है। साउथ अफ्रीका का सबसे बड़ा और घनी आबादी वाला शहर होने के साथ ही यह जोश और उमंग का शहर भी है।  इस दिलचस्प शहर को साउथ अफ्रीका का फूड कैपिटल कहा जा सकता है। हर गली में कॉफी की मदहोश कर देने वाली खुशबू बिखरी है। यहां कॉफी के अलग-अलग स्वाद न लिए तो घूमना बेकार है। कैफेटेरिया, मॉडर्न आर्ट गैलरीज, रूफटॉप बार...हर जगह कॉफी की ही धूम है।  नेल्सन मंडेला म्यूजियम  सोवेटो विलाकाजी स्ट्रीट में स्थित मंडेला हाउस आज म्यूजियम बन चुका है। जोहनेसबर्ग आने वाला हर सैलानी यहां जरूर आता है। नेल्सन मंडेला ने अपने घर को सोवेटो हैरिटेज ट्रस्ट को सौंप दिया था, जिसके बाद इसे म्यूजियम बना दिया गया। यह लाल ईंटों से बना एक मंजिला छोटा सा घर है। कहा जाता है कि साल 1990 में जेल से आने के बाद मंडेला इसी आवास में रुके थे। यहां उनके जीवन से जुड़ी कई स्मृतियां संजोई गई हैं, साथ ही उनकी उपलब्धियां भी प्रदर्शित की गई हैं।   चाय की दुकान चलाकर 23 देश घूम चुका है केरल का ये कपल, उम्र है 65 साल यह भी पढ़ें   लॉयन सफारी पार्क   जरूरत के हर एक सामान की करें बजट में खरीददारी बैंगलुरू के इन 5 मार्केट्स से यह भी पढ़ें जोहनेसबर्ग का खास आकर्षण है यहां का लॉयन सफारी पार्क, जो 1500 एकड़ में फैला हुआ है। यहां 80 से भी अधिक शेर मौजद हैं, जो अपने परिवार और छोटे बच्चों के साथ उछलकूद करते नजर आ जाते हैं। यहां एक खास प्रजाति भी दिखती है, जो सफेद रंग के शेरों की है। इसके अलावा केप वाइल्ड डॉग और शेरों की कई दुर्लभ प्रजातियां भी यहां दिखती हैं।     पर्सनल शेफ से लेकर योगा गुरु तक, इस आइलैंड आकर करें लक्ज़री हॉलीडे को फुल एन्जॉय यह भी पढ़ें टॉप हिपस्टर हैंगआउट्स  इस शहर को हिपस्टर हैंगआउट के नाम से भी जाना जाता है। यहां के जोशीले युवा कई तरह की लाइव एक्टिविटीज में लिप्त नजर आते हैं। इनमें स्ट्रीट डांस, लाइव आर्ट, सिंगिंग जैसी कई मजेदार ऐक्टिविटीज शामिल हैं। जोहनेसबर्ग के 5 टॉप फन एरिया हैं, मॉबोनेग, न्यू टाउन, ब्रामफॉन्टिन और मेलविले।   कुंभ 2019ः धार्मिक यात्रा के लिए ही नहीं और भी कई मायनों में खास है कुंभ मेला यह भी पढ़ें आर्ट गैलेरीज  सेंट्रल बिजनेस डिस्ट्रिक्ट से केलिन और किंग जॉर्ज स्ट्रीट की ओर बढ़ते ही जोहनेसबर्ग आर्ट म्यूजियम दिखता है। यहां प्रवेश द्वार पर ब्रिटिश कला के नायाब नमूने मिल जाते हैं। कई पुराने और कंटेमपरेरी आर्टिस्ट्स की कलाकृतियां यहां प्रदर्शित की गई हैं। यहां 15 बड़े-बड़े हॉल हैं, जिनमें हर जगह आर्ट एंड स्क्ल्पचर्स की प्रदर्शनियां दिखती हैं। इसके अलावा एक खूबसूरत स्कल्प्चर गार्डन भी है। यहां 17वीं सदी की डच आर्ट, 18वीं-19वीं सदी की ब्रिटिश व यूरोपियन आर्ट, 19वीं सदी की खास साउथ अफ्रीकन कला के अलावा कंटेमपरेरी आर्ट का विचित्र और भव्य समायोजन दिखाई देता है। जोहनेसबर्ग आर्ट गैलरी केपटाउन की आर्ट गैलरी से भी बड़ी है।  नेल्सन मंडेला स्क्वेयर  सफर के दौरान सेडटन की ओर जा रहे हों तो नेल्सन मंडेला स्क्वेयर देखना तो बनता है। यहां 400 से भी अधिक विश्व भर के रिटेल स्टोर्स हैं। स्क्वेयर के सामने बीचोंबीच नेल्सन मंडेला के छह मीटर ऊंचे स्टेच्यू के साथ सेल्फी लेने वालों की कमी नहीं है और वाकई इसके बिना तो ट्रिप अधूरी ही मानी जाती है। इसे जोहनेसबर्ग की सबसे धूमधाम और मस्ती भर जगह कहा जाए तो गलत नहीं होगा।    गोल्ड रीफ सिटी  जोहनेसबर्ग के सेंट्रल बिजनेस डिस्ट्रिक्ट के साउथ में एतिहासिक सोने की खदान पर बनी गोल्ड रीफ सिटी दरअसल एक अम्यूज़मेंट पार्क है। सोने की यह खदान साल 1971 में बंद हो गई थी। यह पार्क साउथ अफ्रीका के पुराने कल्चर को रिवाइव करने का एक प्रयास है। यहां की लगभग सारी इमारतें उसी दौर का प्रतिनिधित्व करती हैं। यहां वॉटर राइड्स, रोलर कोस्टर और मशहूर गोल्ड रीफ कसीनो है। गोल्ड रीफ सिटी अफ्रीका की चमकती-दमकती दुनिया का अद्भुत नमूना है। यहां के भव्य, दमकते और खूबसूरत ऑडिटोरियस में कई तरह के लाइव शोज़ होते रहते हैं। पूरे पार्क को गोल्ड थीम में ही ढाला गया है। यहां का स्टाफ भी पारंपरिक कॉस्ट्यूम में सैलानियों का स्वागत करता है।    नाइट लाइफ  शाम होते ही जगमग करते इस शहर की छटा निराली हो जाती है। यहां की नाइट लाइफ न देखी तो इस शहर को देखने का मजा आधा ही रहेगा। यहां कई नाइट हैंगआउट्स हैं। कॉफी हाउस से लेकर वाइन बार तक सब कुछ इस शहर की नाइट लाइफ में शामिल है। ब्रेंसटन जा रहे हैं तो द लैंडमार्क कॉकटेल की भीड़ एक बार उधर मुडऩे पर मजबूर कर देती है। दूसरी ओर क्रेगहॉल पार्क के एक तरफ हेल्दी फूड्स भी ललचाते नजर आते हैं। फ्लेवर्ड मिल्क और जूसेज के कई नायाब स्वाद यहां मिल जाते हैं। यानी नाइट लाइफ को एंजॉय करने के लिए म्यूजियम, डांस के अलावा टेस्टी फूड सब यहां मिलता है। मस्ती में डूबे देशी-विदेशी पर्यटकों के अलावा स्थानीय नौजवान भी नाइट लाइफ का भरपूर लुत्फ उठाते हैं।    क्रेडल ऑफ ह्यूमनकाइंड  ऐतिहासिक जगह है क्रेडल ऑफ ह्यूमनकाइंड, जिसे यूनेस्को ने वर्ल्ड हेरिटेज साइट की श्रेणी में रखा है। यह इमारत बाहर से एक उलटे रखे गए बर्तन सरीखी दिखती है और इसके भीतर सदियों पुरानी गुफाएं हैं।    एंपरर पैलेस  एंपरर पैलेस होटल कसीनो एक भव्य और जगमग करती जगह है। यहां का खूबसूरत नीला आसमान एकबारगी चौंकाता है लेकिन तब और चौंका देता है, जब पता चलता है कि यह असल नहीं बल्कि आर्टिफिशियल आसमान है। नकली आसमान तले यहां के रेस्तरां में अफ्रीकन कॉफी का टेस्ट कुछ और लाजवाब हो जाता है। कसीनो से लेकर यहां बच्चों के लिए भी कई रोमांचक जगहें हैं। एक बड़ा सा थिएटर है, जहां स्थानीय और सिनेमा से जुड़े म्यूजिक और डांस इवेंट्स होते रहते हैं। गेमिंग के शौकीनों के लिए यह जगह किसी स्वर्ग से कम नहीं।    कॉन्सिट्यूशन हिल  जोहनेसबर्ग के कोटजे स्ट्रीट का रूख करने पर कॉन्स्टीट्यूशन हिल दिखता है। यह जगह किसी किले जैसी है लेकिन वास्तव में यह यहां का कोर्ट है। थोड़ा अतीत में जाते हैं तो पता चलता है कि सदियों पहले यह वास्तव में यह किला था जिसे बाद में जोहनेसबर्ग की जेल बना दिया गया। पहले यहां पुरुष जेल हुआ करती थी, बाद में महिलाओं के लिए अलग सेल बनाई गई। इसके एक हिस्से में म्यूजियम भी शुरू किया गया। आज यहां अदालत के अलावा आर्ट गैलरी भी है, जहां अलग-अलग आर्टिस्ट्स की पेंटिग्स या कलाकृतियां देखने को मिलती हैं। म्यूजियम सेल में ही एक मंडेला सेल है जहां नेल्सन मंडेला को जेल में रखा गया था।

इस दिलचस्प शहर को साउथ अफ्रीका का फूड कैपिटल कहा जा सकता है। हर गली में कॉफी की मदहोश कर देने वाली खुशबू बिखरी है। यहां कॉफी के अलग-अलग स्वाद न लिए तो घूमना बेकार है। कैफेटेरिया, मॉडर्न आर्ट गैलरीज, रूफटॉप बार…हर जगह कॉफी की ही धूम है।

नेल्सन मंडेला म्यूजियम

सोवेटो विलाकाजी स्ट्रीट में स्थित मंडेला हाउस आज म्यूजियम बन चुका है। जोहनेसबर्ग आने वाला हर सैलानी यहां जरूर आता है। नेल्सन मंडेला ने अपने घर को सोवेटो हैरिटेज ट्रस्ट को सौंप दिया था, जिसके बाद इसे म्यूजियम बना दिया गया। यह लाल ईंटों से बना एक मंजिला छोटा सा घर है। कहा जाता है कि साल 1990 में जेल से आने के बाद मंडेला इसी आवास में रुके थे। यहां उनके जीवन से जुड़ी कई स्मृतियां संजोई गई हैं, साथ ही उनकी उपलब्धियां भी प्रदर्शित की गई हैं।

लॉयन सफारी पार्क

जोहनेसबर्ग का खास आकर्षण है यहां का लॉयन सफारी पार्क, जो 1500 एकड़ में फैला हुआ है। यहां 80 से भी अधिक शेर मौजद हैं, जो अपने परिवार और छोटे बच्चों के साथ उछलकूद करते नजर आ जाते हैं। यहां एक खास प्रजाति भी दिखती है, जो सफेद रंग के शेरों की है। इसके अलावा केप वाइल्ड डॉग और शेरों की कई दुर्लभ प्रजातियां भी यहां दिखती हैं।

टॉप हिपस्टर हैंगआउट्स

इस शहर को हिपस्टर हैंगआउट के नाम से भी जाना जाता है। यहां के जोशीले युवा कई तरह की लाइव एक्टिविटीज में लिप्त नजर आते हैं। इनमें स्ट्रीट डांस, लाइव आर्ट, सिंगिंग जैसी कई मजेदार ऐक्टिविटीज शामिल हैं। जोहनेसबर्ग के 5 टॉप फन एरिया हैं, मॉबोनेग, न्यू टाउन, ब्रामफॉन्टिन और मेलविले।

आर्ट गैलेरीज

सेंट्रल बिजनेस डिस्ट्रिक्ट से केलिन और किंग जॉर्ज स्ट्रीट की ओर बढ़ते ही जोहनेसबर्ग आर्ट म्यूजियम दिखता है। यहां प्रवेश द्वार पर ब्रिटिश कला के नायाब नमूने मिल जाते हैं। कई पुराने और कंटेमपरेरी आर्टिस्ट्स की कलाकृतियां यहां प्रदर्शित की गई हैं। यहां 15 बड़े-बड़े हॉल हैं, जिनमें हर जगह आर्ट एंड स्क्ल्पचर्स की प्रदर्शनियां दिखती हैं। इसके अलावा एक खूबसूरत स्कल्प्चर गार्डन भी है। यहां 17वीं सदी की डच आर्ट, 18वीं-19वीं सदी की ब्रिटिश व यूरोपियन आर्ट, 19वीं सदी की खास साउथ अफ्रीकन कला के अलावा कंटेमपरेरी आर्ट का विचित्र और भव्य समायोजन दिखाई देता है। जोहनेसबर्ग आर्ट गैलरी केपटाउन की आर्ट गैलरी से भी बड़ी है।

नेल्सन मंडेला स्क्वेयर

सफर के दौरान सेडटन की ओर जा रहे हों तो नेल्सन मंडेला स्क्वेयर देखना तो बनता है। यहां 400 से भी अधिक विश्व भर के रिटेल स्टोर्स हैं। स्क्वेयर के सामने बीचोंबीच नेल्सन मंडेला के छह मीटर ऊंचे स्टेच्यू के साथ सेल्फी लेने वालों की कमी नहीं है और वाकई इसके बिना तो ट्रिप अधूरी ही मानी जाती है। इसे जोहनेसबर्ग की सबसे धूमधाम और मस्ती भर जगह कहा जाए तो गलत नहीं होगा।

गोल्ड रीफ सिटी

जोहनेसबर्ग के सेंट्रल बिजनेस डिस्ट्रिक्ट के साउथ में एतिहासिक सोने की खदान पर बनी गोल्ड रीफ सिटी दरअसल एक अम्यूज़मेंट पार्क है। सोने की यह खदान साल 1971 में बंद हो गई थी। यह पार्क साउथ अफ्रीका के पुराने कल्चर को रिवाइव करने का एक प्रयास है। यहां की लगभग सारी इमारतें उसी दौर का प्रतिनिधित्व करती हैं। यहां वॉटर राइड्स, रोलर कोस्टर और मशहूर गोल्ड रीफ कसीनो है। गोल्ड रीफ सिटी अफ्रीका की चमकती-दमकती दुनिया का अद्भुत नमूना है। यहां के भव्य, दमकते और खूबसूरत ऑडिटोरियस में कई तरह के लाइव शोज़ होते रहते हैं। पूरे पार्क को गोल्ड थीम में ही ढाला गया है। यहां का स्टाफ भी पारंपरिक कॉस्ट्यूम में सैलानियों का स्वागत करता है।

नाइट लाइफ

शाम होते ही जगमग करते इस शहर की छटा निराली हो जाती है। यहां की नाइट लाइफ न देखी तो इस शहर को देखने का मजा आधा ही रहेगा। यहां कई नाइट हैंगआउट्स हैं। कॉफी हाउस से लेकर वाइन बार तक सब कुछ इस शहर की नाइट लाइफ में शामिल है। ब्रेंसटन जा रहे हैं तो द लैंडमार्क कॉकटेल की भीड़ एक बार उधर मुडऩे पर मजबूर कर देती है। दूसरी ओर क्रेगहॉल पार्क के एक तरफ हेल्दी फूड्स भी ललचाते नजर आते हैं। फ्लेवर्ड मिल्क और जूसेज के कई नायाब स्वाद यहां मिल जाते हैं। यानी नाइट लाइफ को एंजॉय करने के लिए म्यूजियम, डांस के अलावा टेस्टी फूड सब यहां मिलता है। मस्ती में डूबे देशी-विदेशी पर्यटकों के अलावा स्थानीय नौजवान भी नाइट लाइफ का भरपूर लुत्फ उठाते हैं।

क्रेडल ऑफ ह्यूमनकाइंड

ऐतिहासिक जगह है क्रेडल ऑफ ह्यूमनकाइंड, जिसे यूनेस्को ने वर्ल्ड हेरिटेज साइट की श्रेणी में रखा है। यह इमारत बाहर से एक उलटे रखे गए बर्तन सरीखी दिखती है और इसके भीतर सदियों पुरानी गुफाएं हैं।

एंपरर पैलेस

एंपरर पैलेस होटल कसीनो एक भव्य और जगमग करती जगह है। यहां का खूबसूरत नीला आसमान एकबारगी चौंकाता है लेकिन तब और चौंका देता है, जब पता चलता है कि यह असल नहीं बल्कि आर्टिफिशियल आसमान है। नकली आसमान तले यहां के रेस्तरां में अफ्रीकन कॉफी का टेस्ट कुछ और लाजवाब हो जाता है। कसीनो से लेकर यहां बच्चों के लिए भी कई रोमांचक जगहें हैं। एक बड़ा सा थिएटर है, जहां स्थानीय और सिनेमा से जुड़े म्यूजिक और डांस इवेंट्स होते रहते हैं। गेमिंग के शौकीनों के लिए यह जगह किसी स्वर्ग से कम नहीं।

कॉन्सिट्यूशन हिल

जोहनेसबर्ग के कोटजे स्ट्रीट का रूख करने पर कॉन्स्टीट्यूशन हिल दिखता है। यह जगह किसी किले जैसी है लेकिन वास्तव में यह यहां का कोर्ट है। थोड़ा अतीत में जाते हैं तो पता चलता है कि सदियों पहले यह वास्तव में यह किला था जिसे बाद में जोहनेसबर्ग की जेल बना दिया गया। पहले यहां पुरुष जेल हुआ करती थी, बाद में महिलाओं के लिए अलग सेल बनाई गई। इसके एक हिस्से में म्यूजियम भी शुरू किया गया। आज यहां अदालत के अलावा आर्ट गैलरी भी है, जहां अलग-अलग आर्टिस्ट्स की पेंटिग्स या कलाकृतियां देखने को मिलती हैं। म्यूजियम सेल में ही एक मंडेला सेल है जहां नेल्सन मंडेला को जेल में रखा गया था।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/updarpan/public_html/namonamo.in/wp-includes/functions.php on line 5107

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/updarpan/public_html/namonamo.in/wp-includes/functions.php on line 5107