कैंपिंग के लिए 5 ऐसी जगह, जो जिंदगी के मायने बदल देंगी…

0

कैंपिंग के लिए इंडिया की ये 5 जगहें बहुत ज्यादा फेमस हैं, अगर आप कैंपिंग का शौक रखती हैं तो इन जगहों पर जरूर जाएं। घूमना आपको जिंदगी के कई नए पहलुओं से रुबरू करवाता है। नई जगह वहां की संस्कृति, खानपान, बोलचाल और परिवेश से आप परिचित होते हैं। घूमने का मतलब सिर्फ भीड़ भरे हिल स्टेशन पर जाकर होटलों में रहना नहीं होता बल्कि एक नई जगह का आनंद लेना भी होता है। अगर आप भी ऐसा महसूस करना चाहती हैं तो आपको कैंपिंग का लुफ्त जरूर उठाना चाहिए।कैंपिंग के लिए 5 ऐसी जगह, जो जिंदगी के मायने बदल देंगी...

कैंपिंग का कल्चर इंडिया में तेजी से बढ़ा है और कई हिस्सों में तेजी से कैंपिंग एक बड़ा व्यापार बनकर उबरा है। तो चलिए जानते हैं 5 ऐसी कैंपिंग वाली जगहों के बारे में जो आपके घूमने को सार्थक बना देंगी।

जैसेलमेर
पहाड़ी इलाके से आपको परहेज है तो रेत में रात बिताना एक शानदार आइडिया हो सकता है। राजस्थान में जैसेलमेर कैंपिंग के लिए मशहूर है। पीले रेत के बीच सफेद टेंट में राजस्थानी खाना और लोक संस्कृति का आनंद लेना बढ़िया विकल्प है। यहां आपको विदेशी टूरिस्ट्स भी काफी दिख जाएंगे। जेब के लिहाज से भी यहां कैंपिंग करना काफी सस्ता पड़ता है और सर्दियों में आप यहां कैंपिंग ज्यादा एंजॉय कर सकती हैं।

अंजुना बीच, गोवा
बीच के किनारे अपने पार्टनर के साथ रात बिताने का ख्वाब देखा है तो गोवा आपका इंतजार कर रहा है। नॉर्थ गोवा के अंजुना और दूसरे बीच पर आप कैंपिंग का आनंद ले सकती हैं। यहां कैंपिंग करके आपको अन्य जगहों से अलग ही अहसास होगा।

स्पिति घाटी, हिमाचल
लाहौल और स्पिति हिमाचल के सुदूर स्थित वो निर्जन इलाका है, जहां पहाड़ी जनजातियां ही रहती हैं। ये जगहें कैंपिंग के लिए बहुत ज्यादा फेमस हैं। टूरिस्ट्स तेजी से बढ़ने के कारण कई कंपनियां स्पिति घाटी में कैंपिंग करवाती हैं। सर्दियों की बजाए गर्मियां यहां कैंपिंग के अच्छा समय है क्योंकि इस दौरान हिमालय का अच्छा नजारा भी देखा जा सकता है।

मसूरी, उत्तराखंड
अगर हिमाचल या सुदूर पहाड़ी इलाके में जाना आपके लिए संभव नहीं है तो नजदीक ही मसूरी के पास भी आप कैंपिंग का आनंद ले सकती हैं। ये दिल्ली से काफी नजदीक स्थित है। यहां आप मार्च से जून के बीच कैंपिंग के लिए जा सकती हैं।

सोनमर्ग, कश्मीर
पहाड़, नदी और कैंपिंग का मजा लेना चाहती हैं तो आपके लिए कश्मीर का सोनमर्ग एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है। मनमोहक पहाड़ी नजारों के बीच नदी के नजदीक आप कुछ दिन गुजारकर जिंदगी में शांति का एहसास कर सकती हैं। यहां तक पहुंचना भी कठिन नहीं, सीधे सड़क के सहारे श्रीनगर से सोनमार्ग जाया जा सकता है।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.