बीच की खूबसूरती देखनी है तो जाएं भारत की इस जगह पर…

0

बीच पर घूमने का अपना अलग ही नजारा होता है। इसके लिए आप दुनिया ही नही भारत मे ंभी घूम सकते हो। अगर आप दुनिया में कहीं घूमने का प्लान कर रहे हो तो इससे पहले भारत के इस शहर के बारे में जान लें जहॉ आप कई जगहों पर घूम सकते हो। यह जगह भारत के प्राचीन शहरों में आती है। कर्नाटक में स्थित यह जगह अरब सागर के किनारे में बसी हुई है। इस जगह को भटकल के नाम से जाना जाता है। इस शहर में कई कई शासनकारों ने राज किया।बीच पर घूमने का अपना अलग ही नजारा होता है। इसके लिए आप दुनिया ही नही भारत मे ंभी घूम सकते हो। अगर आप दुनिया में कहीं घूमने का प्लान कर रहे हो तो इससे पहले भारत के इस शहर के बारे में जान लें जहॉ आप कई जगहों पर घूम सकते हो। यह जगह भारत के प्राचीन शहरों में आती है। कर्नाटक में स्थित यह जगह अरब सागर के किनारे में बसी हुई है। इस जगह को भटकल के नाम से जाना जाता है। इस शहर में कई कई शासनकारों ने राज किया।  इस शहर में आपको आपको पुर्तगाल शहर की झलक देखने को मिलेगी। यहॉ देखने के लिए आपको कई मंदिर, जैन बस्तियां और मस्जिद भी मौजूद है। जिन्हें देखे बिना कोई भी पर्यटक नही जाता है।  अगर आप नेचर लवर हो तो यह जगह आपको बेहद पसंद आएगी। यहॉ के नजारे किसी को भी यहॉं से जाने नही देगें। आप यहॉ प्रकृति की गोद में खो जाने का मजा ले सकते हो।  यहॉ आकर पर्यटक समुद्र तट पर बैठ कर सूर्यास्त का खूबसूरत नजारा भी जरूर देखते है। जहॉ एक पल के लिए आप खूद को भूल जाएगें। इस जगह के बारे में कहा जाता है कि इस जगह पर आकर सूर्यास्त का नजारा लेना जन्नत के समान माना जाता है।  इसके अलावा आपको बता दें कि भटकल तहसील में मौजूद मुरुदेश्वर कस्बे में भगवान शिव की दूसरी सबसे बड़ी और ऊँची मूर्ति स्थित है जो पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र है। इसके अलावा और भी कई खूबसूरत जगहे यहॉ आपको देखने को मिलेगी।

इस शहर में आपको आपको पुर्तगाल शहर की झलक देखने को मिलेगी। यहॉ देखने के लिए आपको कई मंदिर, जैन बस्तियां और मस्जिद भी मौजूद है। जिन्हें देखे बिना कोई भी पर्यटक नही जाता है।

अगर आप नेचर लवर हो तो यह जगह आपको बेहद पसंद आएगी। यहॉ के नजारे किसी को भी यहॉं से जाने नही देगें। आप यहॉ प्रकृति की गोद में खो जाने का मजा ले सकते हो।

यहॉ आकर पर्यटक समुद्र तट पर बैठ कर सूर्यास्त का खूबसूरत नजारा भी जरूर देखते है। जहॉ एक पल के लिए आप खूद को भूल जाएगें। इस जगह के बारे में कहा जाता है कि इस जगह पर आकर सूर्यास्त का नजारा लेना जन्नत के समान माना जाता है।

इसके अलावा आपको बता दें कि भटकल तहसील में मौजूद मुरुदेश्वर कस्बे में भगवान शिव की दूसरी सबसे बड़ी और ऊँची मूर्ति स्थित है जो पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र है। इसके अलावा और भी कई खूबसूरत जगहे यहॉ आपको देखने को मिलेगी

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.