आदर्श बहू बनने के लिए अपनाएं ये टिप्स, बन जाएँगी सबकी चहेती…

0

अक्सर विवाह होने के बाद में लड़की के ऊपर नए परिवार की जिम्मेदारियां आ जाती हैं। इस कारण कई बार उसको अपने मायके की याद आने पर भी अपने माता पिता को अनदेखा करना पड़ता है। आज हम आपको यहां कुछ ऐसे टिप्स दे रहें हैं। जो न सिर्फ आपकी इस प्रकार की यादों को दूर रखने में मददगार होंगे बल्कि आपके रिश्ते को ससुराल तथा मायके दोनों में ही मजबूत बनाएंगें।आदर्श बहू बनने के लिए अपनाएं ये टिप्स, बन जाएँगी सबकी चहेती...

अपनाएं टिप्स:

# अपने ससुराल के लोगों से बातचीत करके यह शेड्यूल करें की आप अपने मायके के कार्यों की उपेक्षा किये बगैर कितनी बार तथा किस समय अपने मायके जा सकती हैं।

# आप अपने मायके से अपनी माता या पिता या सभी को कभी कभी अपने घर में भी बुलाएं। वे आपके ससुराल में आकर यह भी देख पाएंगे की उनकी बेटी किस प्रकार से अपनी गृहस्थी को सम्हाल रही है।

# आप जब भी अपने मायके वालों से मिले तो बेशक आप उनसे चर्चा करें, बातचीत करें तथा सलाह मशविरा करें। लेकिन अपने ससुराल की छोटी मोटी बातें समस्याएं अपने मायके के लोगों से न कहें।

# महीने में एक बाद घर पर पूरे परिवार के साथ भोजन या पिकनिक का प्लान करें। सभी लोग साथ रहें। इससे सभी के रिश्तों में आपसी मजबूती आएगी तथा दोनों परिवार खुश भी रहेंगें।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.