पतले चेहरे के लिए टिप्स, चबाएं च्विंगम और करें..

0

कई बार गोरापन, सुंदरता धरी की धरी रह जाती है, जब चेहरे पर मोटापा बढ़ जाता है। थुल-थुल चेहरा न सिर्फ आपको अंकफर्टेबल कर देता है बल्कि, चेहरे पर जमा मोटापा आपको उम्रदराज भी दिखाता है। 

हालांकि चेहरे पर जमा चर्बी से कोई शारीरिक तकलीफ नहीं होती पर जब आप पर लोग अट्रैक्ट नहीं हों मोटा चेहरा होने की वजह से तब मन को जरूर तकलीफ होती है।

मार्केट में चेहरे की इस समस्या का इलाज है पर वह जोखिम भरा और खर्चीला होता होता है जो हर किसी के बस का नहीं। चेहरे पर चर्बी जमा होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे वसा युक्त भोजन ज़्यादा खाना, पानी कम पीना और लगातार शरीर का वज़न बढ़ना। गालों पर फ़ैट को कम करने के लिए ज़रूरी है कि आप वज़न कम करें। या चिंता करें बस आप बताए गए कुछ नुस्खो को अपनाएं और स्लिम फेस के साथ इतराएं।

1. फेशियल मसाज करें

आपकी गर्दन के ऊपर और ठोड़ी के नीचे बहुत आसानी से फैट बढ़ जाता हैं। त्वचा को कसने के लिए फेशियल मसाज एक बेहतर ऑप्शन हैं। मसाज की शुरुआत ठोड़ी की त्वचा को कानो तक लेकर जाए, इसे 5 मिनट तक दिन में दो बार करें। ऐसा करने से रक्त संचार बेहतर होगा और आपकी त्वचा कस जाएगी।

2. च्विंगम चबाएं

राह चलते कई बार हम च्विंगम चबाते देखते हैं। पर यह फाल्तू नहीं बड़े काम का नुस्खा है स्लिम फेस पाने के लिए। ऐसा करने से आपकी चीकबोन्स कम होती हैं। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि च्वींगम में शुगर कम हो ताकि आप कैवेटी का शिकार ना हो।

3. ब्रेकफास्ट में कैल्सियम वाले डाइट लें 

सुबह का नाश्ता जमकर किया जाए तो मेटाबलिज़्म तेज़ हो जाता है। बहुत से लोग डायटिंग करने के नाम खाना पीना छोड़ देते हैं, जिससे मेटाबलिज़्म धीमा हो जाता है और बॉडी में चर्बी जमा होने की रफ़्तार बढ़ जाती है। जिससे चेहरा और पेट ज्यादा प्रभावित होता है। 
कैल्शियम युक्त आहार खाने से शरीर से अतिरिक्त पानी कम होता है और चर्बी भी कटती है। दूध, दही, दालें, हरी सब्ज़ियां और सी फ़ूड में पर्याप्त कैल्शियम होता है। जिसे लेने ये स्लिम फेस पाने में मदद मिलेगा।

4. नमक कम खाएं

हर व्यक्ति के शरीर की नमक की आदर्श मात्रा 3.8 मिलीग्राम हैं। ज्यादा नमक का सेवन करने से शरीर में सूजन और निर्जलन जैसी समस्या हो जाती हैं। दरअसल हमारे गुर्दे प्राकृतिक फिल्टर के रूप में कार्य करते हैं और मूत्र पथ के माध्यम से हमारे शरीर का अतिरिक्त खनिज और तरल पदार्थ बाहर निकाल देता हैं। ज्यादा नमक का सेवन करने से आपकी रक्त वाहिकाओं पर असर पड़ता है जिसकी वजह से हमारे चेहरे पर सूजन होती हैं।

5. पानी खूब पिएं

ज़्यादा पानी पीना भी चेहरे को पतला करने का तरीका है। पानी शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स को बैलेंस करके डिहाइड्रेशन से बचाता है। ज्यादा पानी पीने से विषैले त्तव यानि टॉक्सिंस बाहर निकल जाते हैं। साथ ही साथ पानी पीने से वज़न कम करने में भी मदद मिलती है और चेहरा पतला होने लगता है।

6. भरपूर नींद लें

पूरी नींद न लेने से हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं, जिससे वज़न बढ़ने लगता है। जिससे चेहरे पर भी चर्बी आ जाती है, इसलिए अच्छी नींद ज़रूर लें।

7. फेशियल योगा करें

हम सब योगा से होने वाले स्वास्थ लाभ से वाकिफ हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि योगा चेहरे की चर्बी को कम करने में भी मददगार हैं। योगा को रुटीन में लाने से आपको चेहरे में बदलाव दिखेगा।शुरु करते है सबसे आसान तरीके से, सबसे पहले अपनी गर्दन को पिछे की तरफ झुका ले औऱ उसके बाद छत की तरफ देखें, अब अपने होंठो की मदद से ‘ओ’ का आकार बनाएं, और इस व्यायाम को दोहराएँ कम से कम 10 बार धीरे धीरे आप इस प्रकिया में इजाफा भी कर सकते है सुंदर ‘जॉ लाइन’ पाने के लिए पहले सीधा बैंठे उसके बाद अपने सिर को पिछे की तरफ मोड़े, अब अपनी जीभ को बाहर निका लें इस अवस्था में करीब 10 मिनट तक बैठें रहें, और इस प्रकिया को कम से कम 5 बार जरुर करें। चिकबनोस्क को सुंदर बनाने के लिए एक और व्यायाम करें, अपने चेहरे को मछली के आकार का बना लें उसके बाद चेहरे को सिकोड़ लें मछली के आकार के रुप में इसे करीब 10 मिनट तक ऐसे ही रहने दें और इसे 5 बार जरुर करें। ये व्यायाम करने में काफी आसान है, आप इसे बड़ी आसानी के साथ कर सकते है, सोचिए की आपने मुंह में पानी ले रखा है और उसी आकार में अपने चहरे को थोड़ी देर के लिए छोड़ दें, इस दौरान ध्यान रहे आपके होंठ जोर से दबे होने चाहिए, इस व्यायाम को 30 सेकेंड ही करें लेकिन दिन में 2 बार जरुर दोहराएं यह व्यायाम आपके होंठ, ठोड़ी और गाल हड्डियों के लिए बेहद फायदेमंद होता है।

, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल,

Leave A Reply

Your email address will not be published.


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/updarpan/public_html/namonamo.in/wp-includes/functions.php on line 5107

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/updarpan/public_html/namonamo.in/wp-includes/functions.php on line 5107