चिकन बिरयानी के नाम पर बेच रहे थे कौवा बिरयानी, पूछताछ में सामने आई ऐसी सच्चाई.. दंग रह जाएंगे आप

0

चिकन बिरयानी के नाम पर बेच रहे थे कौवा बिरयानी, पूछताछ में सामने आई ऐसी सच्चाई.. दंग रह जाएंगे आप

नई दिल्ली:

तमिलनाडु के रामेश्वरम से एक बेहद ही हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. खाद्य विभाग ने यहां सड़क के किनारे चिकन बिरयानी बेचने वाले दुकानदार की रेहड़ी पर छापा मारा तो सच्चाई जान अधिकारियों के होश उड़ गए. अधिकारियों ने जांच में पाया कि दुकानदार अपने ग्राहकों को 30 रुपये में चिकन बिरयानी के नाम पर कौवा बिरयानी बेच रहा था. ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक खाद्य विभाग द्वारा जिस रेहड़ी पर छापा मारा गया था, वह रामेश्वरम मंदिर के पास ही लगाई जाती थी.

रिपोर्ट्स में बताया गया है कि मंदिर आने वाले श्रद्धालु आस-पास के कौवों को दाना खिलाते थे. लेकिन कुछ दिनों बाद मंदिर आने वाले लोगों ने देखा कि वहां कई कौवे मरे हुए हैं. जिसके बाद उन्हें शक हुआ था कि मंदिर के पास लगाई जाने वाली बिरयानी में चिकन नहीं बल्कि कौवे का मांस है. एक श्रद्धालु ने इस पूरे मामले में पुलिस को सूचना दी. जिसके बाद खाद्य विभाग और पुलिस की एक संयुक्त टीम बिरयानी बेचने वाले दुकानदार की रेहड़ी पर छापा मारा था.

आपको जानकर हैरानी होगी कि पुलिस को छापेमारी के दौरान रेहड़ी से 150 मरे हुए कौवे भी मिले थे. इस पूरे मामले में पुलिस ने दुकानदार और उसके एक हेल्पर को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस की पूछताछ में दुकानदार ने ऐसे खुलासे किए, जिससे सुनने के बाद अधिकारियों के पैरों तले जमीन खिसक गई. उन्होंने बताया कि वे केवल कौवा बिरयानी ही नहीं बल्कि कौवे की टांग से बने सस्ते लॉलीपॉप भी बेचा करते थे. सस्ती बिरयानी और सस्ते लॉलीपॉप की वजह से वहां हमेशा लोगों की भीड़ लगी रहती थी.

दुकानदार ने बताया कि इस धंधे के साथ कई लोग जुड़े हुए हैं. ये एक गिरोह के तौर पर काम करते थे. ये गिरोह सबसे पहले चावल में जहर मिलाकर कौवों को खिलाते थे, जिसके बाद वे मरे हुए कौवों को सस्ती दरों पर दुकानदारों को बेच दिया करते थे. जिससे वे बिरयानी और लॉलीपॉप बनाकर ग्राहकों को बेचा करते थे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.