BMW की चाइनीज पार्टनर कंपनी दिवालिया होने के कगार पर

चीन की कुछ स्टेट ओन्ड कंपनियां हाल-फिलहाल में डिफॉल्ट हुई हैं, जिसके कारण वहां निवेश करने वाली विदेशी कंपनियां नाराज हो गई हैं। इन कंपनियों ने आरोप लगाया है कि टॉप रेटिंग कंपनियों की भी वित्तीय हालत ठीक नहीं है।
जर्मन कार मेकर BMW साल 2003 में चाइनीज मार्केट में एंट्री की थी। इसके लिए उसने Brilliance Auto के साथ जाइंट वेंचर किया था। विकीपीडिया पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक इस डील में 50 फीसदी हिस्सेदारी BMW की, 40.5 फीसदी हिस्सेदारी ब्रिलियंस ऑटो की और 9.5 फीसदी हिस्सेदारी Shenyang municipal government के पास 9.5 फीसदी हिस्सेदारी है। ब्रिलियंस ऑटो प्रिविंसली ओन्ड ऑटोमेकर Huachen Group की सब्सिडियरी कंपनी है। बीएमडब्ल्यू ने अक्टूबर 2003 में BMW 325i को चाइनीज मार्केट में बेचा था।
6.5 अरब युआन कर्ज में डिफॉल्ट
इस डील के बाद 17 सालों तक जर्मन ऑटो मेकर और हुआचेन ग्रुप ने खूब पैसा बनाया। अब हुआचेन ग्रुप दिवालियापन की कगार पर पहुंच चुका है। वह 6.5 अरब युआन (987 मिलियन अमेरिकी डॉलर या 7000 करोड़ रुपये के करीब) कर्ज में डिफॉल्टर है। चाइनीज रेग्युलेटर ने मामले की तहकीकात शुरू कर दी है लेकिन हाल के दिनों में तीन चाइनीज स्टेट ओन्ड कंपनियों के डिफॉल्टर होने से निवेशकों में गुस्सा है।
ब्रैंड बनाने पर नहीं किया काम
हुआचेन ग्रुप की हालत को लेकर कंपनी के कुछ पूर्व कर्मचारियों ने मैनेजमेंट को कसूरवार बताया है। उनका कहना है कि कंपनी ने केवल BMW की बातों को फॉलो किया। जॉइंट वेंचर में वह कभी एक्टिव पार्टिसिपेट नहीं की। वहीं अन्य स्टेट कार मेकर्स जैसे SAIC Motor और Guangzhou Automobile Group ने विदेशी कंपनियों के साथ जॉइंट वेंचर के बावजूद अपने ब्रैंड पर लगातार काम किया। इन कंपनियों ने विदेशी पार्टनर की एक्सपर्टीज का इस्तेमाल अपने लिए किया और खुद को वक्त और जरूरत के साथ बदलते रहे।
2022 में 4.2 अरब डॉलर देने के लिए तैयार
हुआचेन ग्रुप की कंपनी ब्रिलियंस ऑटो हांगकांग में लिस्टेड है। यह कंपनी फ्रेंच कार मेकर रेनो एसए के साथ भी जॉइंट वेंचर में है। फिलहाल इस घटना को लेकर कोई विशेष टिप्पणी नहीं की गई है। पिछले सप्ताह BMW ने रॉयटर्स से कहा था कि वह जाइंग वेंचर ऑपरेशन पर इसका कोई असर नहीं होगा। कंपनी 25 फीसदी और हिस्सेदारी के लिए 2022 में 3.6 अरब यूरो या 4.2 अरब डॉलर देने के लिए तैयार है।
40 हजार एंप्लॉयी
चाइनीज कोर्ट ने हुआचेन के क्रेडिटर्स की तरफ से जमा किए गए री-स्ट्रक्चरिंग ऐप्लिकेशन को स्वीकार कर लिया है। इस ग्रुप में करीब 40 हजार लोग काम करते हैं। कंपनी की कुल असेट 190 अरब युआन है। इसमें BMW Brilliance tie-up भी शामिल है। पिछले साल इसने रेकॉर्ड 5.5 लाख कार बेची थी। कुल मुनाफा 7.6 अरब युआन हुआ था। इसमें हुआचेन को करीब 232 मिलियन डॉलर डिविडेंड के रूप में मिले थे।
-एजेंसियां

Comments are closed.