शीर्ष 10 में से 5 कंपनियों के मार्केट कैप में भारी गिरावट, रिलायंस को बड़ा घाटा

मुंबई। सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से पांच कंपनियों के बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) में बीते सप्ताह सामूहिक रूप से 1,07,160 करोड़ रुपये की गिरावट आई। सबसे अधिक नुकसान में रिलायंस इंडस्ट्रीज रही। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस), हिंदुस्तान यूनिलीवर, इन्फोसिस और आईसीआईसीआई बैंक का बाजार पूंजीकरण भी घट गया।
सेंसेक्स में 439 अंकों का उछाल
एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी लिमिटेड, बजाज फाइनैंश और भारती एयरटेल के बाजार पूंजीकरण में बढ़ोत्तरी हुई। बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 439.25 अंक या 1.01 प्रतिशत के लाभ में रहा। समीक्षाधीन सप्ताह में रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 69,378.51 करोड़ रुपये घटकर 12,84,246.18 करोड़ रुपये रह गया।
TCS को 4165 करोड़ का नुकसान
टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 4,165.14 करोड़ रुपये घटकर 9,97,984.24 करोड़ रुपये तथा हिंदुस्तान यूनिलीवर का 16,211.94 करोड़ रुपये की गिरावट के साथ 4,98,011.94 करोड़ रुपये रह गया। इन्फोसिस के बाजार मूल्यांकन में 12,948.61 करोड़ रुपये की गिरावट आई और यह 4,69,834.44 करोड़ रुपये पर आ गया। आईसीआईसीआई बैंक का मूल्यांकन 4,455.8 करोड़ रुपये घटकर 3,33,315.58 करोड़ रुपये रह गया।
HDFC बैंक को 18800 करोड़ का फायदा
एचडीएफसी बैंक की बाजार हैसियत 18,827.94 करोड़ रुपये बढ़कर 7,72,853.69 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। एचडीएफसी का मूल्यांकन 3,938.48 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी के साथ 4,19,699.86 करोड़ रुपये रहा। कोटक महिंद्रा बैंक का बाजार पूंजीकरण 23,445.93 करोड़ रुपये के उछाल से 3,73,947.2 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। बजाज फाइनैंश का बाजार मूल्यांकन 20,747.08 करोड़ रुपये की वृद्धि के साथ 2,84,285.64 करोड़ रुपये और भारती एयरटेल का 1,145.67 करोड़ रुपये बढ़कर 2,63,776.2 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।
रिलायंस का मार्केट कैप सबसे ज्यादा
शीर्ष 10 कंपनियों की सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज शीर्ष पर कायम रही। उसके बाद क्रमश: टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, इन्फोसिस, एचडीएफसी, कोटक महिंद्रा बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, बजाज फाइनैंश और भारती एयरटेल का स्थान रहा।
-एजेंसियां

Comments are closed.


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/updarpan/namonamo.in/wp-includes/functions.php on line 4556